ऊर्जा के प्रकार -Type's of Energy In Hindi

ऊर्जा (Energy) क्या है?

आपने अनुभव किया होगा कि बहता हुआ पानी अपने साथ लकड़ी की वस्तुओं को बहा कर ले जाता है एवं तेज आंधी
में लम्बवत् पकड़ी हुई कील पर हथौड़े से प्रहार करते है तो कील लकड़ी में भीतर तक चली जाती है। तेज हवा के कारण पवन चक्की चलती है। इन अनुभवों से हम पाते हैं कि गतिमान वस्तु में कार्य करने की क्षमता होती है। जब हम किसी वस्तु को एक निश्चित ऊँचाई तक उठाते है तो उसमें कार्य करने की क्षमता आ जाती है। जब बच्चा खिलौने में चाबी भरता है तो खिलौना किसी समतल धरातल पर रखते ही चलने लगता है। अर्थात भिन्न-भिन्न वस्तुएँ विभिन्न प्रकार से कार्य करने की क्षमता अर्जित कर लेती है।
ऊर्जावान वस्तु द्वारा जब कोई कार्य किया जाता है तो उसमें निहित ऊर्जा का व्यय होता है एवं जिस वस्तु पर कार्य किया जाता है उसकी ऊर्जा में वृद्धि हो जाती है। वास्तव में जिस वस्तु में ऊर्जा है वह दूसरी वस्तु पर कोई बल लगा सकती है एवं दूसरी वस्तु में अपनी कुछ अथवा सम्पूर्ण ऊर्जा स्थानांतरित कर सकती है। दूसरी वस्तु ऊर्जा ग्रहण करके कार्य करने की क्षमता हासिल कर लेती है एवं दूसरी वस्तु में गति में आ सकती है। इस प्रकार पहली वस्तु से कुछ ऊर्जा का स्थानांतरण दूसरी वस्तु में हो जाता है।
किसी वस्तु में कार्य करने की क्षमता को ही ऊर्जा कहते है। किसी वस्तु में विद्यमान ऊर्जा का माप उस वस्तु द्वारा किये जा सकने वाले कार्य से करते है। किसी भी कार्य को करने के लिए ऊर्जा की आवश्यकता है। इस प्रकार कार्य ही ऊर्जा का मापदंड है अतः ऊर्जा का मात्रक वही है जो कार्य का मात्रक है। ऊर्जा भी कार्य की तरह अदिश राशि है।
यदि 1 जूल कार्य करना हो तो आवश्यक ऊर्जा की मात्रा भी 1 जूल होगी।

ऊर्जा के प्रकार (Type's of energy )

ऊर्जा विभिन्न रूपों में विद्यमान है जैसे यांत्रिक ऊर्जा, प्रकाश ऊर्जा, विद्युत ऊर्जा, उष्मीय ऊर्जा, नाभिकीय ऊर्जा, रासायनिक ऊर्जा आदि। सूर्य हमारे लिये ऊर्जा का सबसे बड़ा प्राकृतिक स्त्रोत है। विभिन्न प्राकृतिक घटनाओं जैसे ज्वार-भाटा, नदियों का बहाव, तेज हवाओं का चलना आदि से हम ऊर्जा प्राप्त कर सकते है। ऊर्जा के विभिन्न स्वरूपों में से कुछ निम्न प्रकार है-

1.  यांत्रिक ऊर्जा (Mechanical energy )
2.  ऊष्मा ऊर्जा (Heat energy )
3.  रासायनिक ऊर्जा (Chemical energy )
4.  विद्युत ऊर्जा (Electrical energy )
5.  गुरूत्वीय ऊर्जा (Gravitatinal energy )
6.  नाभिकीय ऊर्जा (Nuclear energy )

1.  यांत्रिक ऊर्जा (Mechanical energy )

किसी वस्तु की गति,स्थिति अथवा दोनों के कारण उसमें जो ऊर्जा होती है उसे यांत्रिक ऊर्जा कहते है।
2.  ऊष्मा ऊर्जा (Heat energy )

ऊष्मा के कारण सूक्ष्म कणों द्वारा गतिमान ऊर्जा को ऊष्मा ऊर्जा कहते है। जैसे कि घर में आग की चिमनी। ये सूक्ष्म कण उच्च ताप से निम्न ताप पर ऊर्जा स्थानांतरण करते है।

3.  रासायनिक ऊर्जा (Chemical energy )

रासायनिक क्रियाओं द्वारा प्राप्त ऊर्जा को रासायनिक ऊर्जा कहते है। बैटरी, भोजन, कोयला, रसोई गैस आदि सभी रासायनिक ऊर्जा के उदाहरण है।
4.  विद्युत ऊर्जा (Electrical energy )

विद्युत आवेशों द्वारा उत्पन्न ऊर्जा विद्युत ऊर्जा कहलाती है। हम घरो में बिजली की जो भी युक्तियां उपयोग में लेते हैं वो विद्युत ऊर्जा से ही चलती हैं।
5.  गुरूत्वीय ऊर्जा (Gravitatinal energy )

पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल के कारण वस्तुएँ पृथ्वी की ओर खिंची चली आती है। वस्तुओं में गुरुत्वाकर्षण बल के कारण उत्पन्न ऊर्जा गुरूत्वीय ऊर्जा कहलाती है।इसी ऊर्जा के कारण झरनो व नदियों में पानी ऊपर से नीचे की ओर बहता हैं।
6.  नाभिकीय ऊर्जा (Nuclear energy )

नाभिकीय विखंडन एवं संलयन के परिणामस्वरूप प्राप्त ऊर्जा नाभिकीय ऊर्जा कहलाती हैं
ऊर्जा के प्रकार -Type's of Energy In Hindi ऊर्जा के प्रकार -Type's of Energy In Hindi Reviewed by shirswastudy on February 21, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.