राजीव गांधी खेल रत्न-द्रोणाचार्य-अर्जुन पुरस्कार अवार्ड 2019

राजीव गांधी खेल रत्न (Rajiv Gandhi Khel Ratna)-द्रोणाचार्य (Dronacharya )-अर्जुन(Arjuna)-पुरस्कार 


राजीव गांधी खेल रत्न भारत में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार हैअर्जुन पुरस्कार खिलाड़ियों दिया जाता हैखेल और खेलों में उत्कृष्ट कोचों के लिए द्रोणाचार्य पुरस्कार दिया जाता है

राजीव गांधी खेल रत्न-द्रोणाचार्य-अर्जुन पुरस्कार अवार्ड 2019

राजीव गांधी खेल रत्न  Rajiv Gandhi Khel Ratna

गांधी खेल रत्न भारत में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है। इस पुरस्कार को भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री श्री Rajiv Gandhi के नाम पर रखा गया है। इस पुरस्कार मे एक पदक, एक प्रशस्ति पत्र और  पुरुस्कृत व्यक्ति को दिये जाते है।

विजेता प्राप्त व्यक्ति को सुविधा

 Indian government द्वारा सम्मानित व्यक्तियों को Railway की मुफ्त पास सुविधा प्रदान की जाती है
जिसके तहत Rajiv Gandhi khel Ratna पुरस्कार एवं ध्यानचंद पुरस्कार विजेता राजधानी या शताब्दी गाड़ियों में प्रथम और द्वितीय श्रेणी वातानुकूलित कोचों में Free यात्रा कर सकते हैं।


  • राजीव गांधी खेल रत्न का प्रकार नागरिक को दिया जाता है
  • राजीव गांधी खेल रत्न की स्थापित वर्ष – 1991- 1992 ई. में हुई है।
  •  पहली बार राजीव गांधी खेल रत्न वर्ष 1991-1992 मैं दिया गया था।
  • Rajiv Gandhi khel Ratna पुरस्कार विजेता की राशि ₹7,50,000 दिया जाता है।

प्रथम राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार विजेता थे
पुरस्कार                  खेल

विश्वनाथ आनंद    संतरज

2018 ईं में राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार विजेता

पुरस्कार                 खेल 
मीराबाई चानू
विराट कोहली     क्रिकेट

2019 ईं. राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार विजेता
 पुरस्कार                    खेल  

बजरंग पूनिया             कुश्ती

दीपा मलिक              पैरा एथलेटिक्स

NOTE – 



  • शॉटपुट, ज्वलीन थ्रो, तैराकी एवं मोटर रेसलिंग (Wresting( की खिलाड़ी हैं।
  • पैरालिंपिक खेलों में मेडल जीतने वाली दीपा मलिक पहली भारतीय महिला बन गई हैं।
  • रियो पैरालिंपिक खेल( Rio Paralympic Games)- 2016 में दीपा मलिक ने शॉट-पुट में रजत पदक जीता




अर्जुन पुरस्कार Arjuna Award


अर्जुन पुरस्कार खिलाड़ियों को दिये जाने वाला एक पुरस्कार है जो  Indian government द्वारा खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये दिया जाता है।
 इस पुरस्कार का प्रारम्भ 1961 में हुआ था।

  • अर्जुन पुरस्कार  की कांस्य प्रतिमा और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है।

  • Arjuna Award नागरिक को दिया जाता है
  • खेल के क्षेत्रों में अर्जुन पुरस्कार खिलाड़ियों को  दिया जाता है
  • अर्जुन पुरस्कार की स्थापित वर्ष – 1961 ई. में हुई है।
  • पहली बार वर्ष 1961 ईं. दिया गया था।
  • भारत सरकार द्वारा  अर्जुन पुरस्कार विजेता खिलाड़ियों को दिया जाता है।
  • अर्जुन पुरस्कार विजेता की राशि ₹ 50,000 दिया जाता है।
वर्ष 2018 में विजेता  अर्जुन पुरस्कार विजेता के नाम निम्नलिखित हैं।
पुरस्कार                       खेल
नीरज चोपड़ा              (एथलेटिक्स)
सुबेदार जिन्सन जॉन्सन (एथलेटिक्स)
हिमा दास                   (एथलेटिक्स)
नीलकुर्ति सिक्की रेड्डी   (बैडमिंटन)
सुबेदार सतीश कुमार    (बॉक्सिंग)
स्मृति मंधाना               (क्रिकेट)
शुभंकर शर्मा               (गोल्फ़)
मनप्रीत सिंह               (हॉकी)
सविता                      (हॉकी)
कर्नल रवि राठौर         (पोलो)
राही सारनोबत            (शूटिंग)
अंकुर मित्तल              (शूटिंग)
श्रेयसी सिंह                (शूटिंग)
मनिका बत्रा                (टेबल टेनिस)
जी. साथियान              (टेबल टेनिस)
सुमित                        (कुश्ती)
पूजन कादियान            (वुशू)
अंकुर धामा                 (पैरा-एथलेटिक्स)
मनोज सरकार             (पैरा बैडमिंटन)

वर्ष 2019 में अर्जून पुरस्कार विजेता प्राप्त सूची
पुरस्कार                     खेल  
रविन्द्र जडेजा             क्रिकेट 
पूनम यादव                क्रिकेट
तेजिंदर पाल सिंह तूर   एथलेटिक्स
स्वपना बर्मन               एथलेटिक्स
मोहम्मन अनस            एथलेटिक्स
एस भास्करन             बॉडी बिल्डिंग
सोनिया लाठेर            मुक्केबाजी
गौरव सिंह गिल।        मोटरस्पोर्ट्स
अजय ठाकुर             कबड्डी
चिंगलेनसना सिंह कांगुजाम हॉकी
अंजुम मुदगिल         निशानेबाजी
पूजा ढांडा               कुश्ती 
हरमीत देसाई           टेबल टेनिस
फवाद मिर्जा            घुड़सवारी
गुरप्रीत सिंह संधू      फुटबॉल
बी साईं प्रणीत        बैडमिंटन
प्रमोद भगत            पैरा खेल बैडमिंटन
सुरेन्द्र सिंह गुर्जर       पैरा खेल एथलेटिक्स
सिमरन सिंह शेरगिल  पोलो



द्रोणाचार्य पुरस्कार  Dronacharya Award



द्रोणाचार्य पुरस्कार Dronacharya Award, आधिकारिक तौर पर खेल और खेलों में उत्कृष्ट कोचों के लिए द्रोणाचार्य पुरस्कार के रूप में जाना जाता है, भारत गणराज्य के खेल कोचिंग (Coaching) सम्मान है। यह पुरस्कार द्रोण के नाम पर रखा गया है, जिसे प्राय द्रोणाचार्य  या "गुरु द्रोण" कहा जाता है, जो कि प्राचीन भारत के संस्कृत महाकाव्य महाभारत का एक पात्र है।
 इसे युवा मामलों और खेल मंत्रालय द्वारा सालाना दिया जाता है। प्राप्तकर्ताओं का चयन मंत्रालय द्वारा गठित एक समिति द्वारा किया जाता है  मेहनती काम और सक्षम खिलाड़ियों को यह पुरस्कार को कोचिंग में जीवन भर के योगदान के लिए नामित किया गया है ।

  •  2017 में, इस पुरस्कार में द्रोणाचार्य का एक कांस्य प्रतिमा, एक प्रमाण पत्र,( certificate )औपचारिक पोशाक,  शामिल है
  • द्रोणाचार्य पुरस्कार की स्थापित वर्ष – 1985 ई. में हुई है।
  • द्रोणाचार्य पुरस्कार पहली बार (प्रथम अलंकरण) वर्ष 1985 में दिया गया था।
  • भारत सरकार द्वारा द्रोणाचार्य पुरस्कार कोच को व्यक्तिगत रूप में दिया जाता है।
  • द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता की राशि ₹ 5,00,000 दिया जाता है।

 प्रथम द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता थे।

पुरस्कार                                        खेल  

1. भलाचंद्र भास्कर भागवत   रेसलिंग
2. ओम प्रकाश भारद्वाज     मुक्केबाज
3. ओ एम नेम्बियर         एथलेटिक्स


वर्ष 2017 में द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता प्राप्त सूची

पुरस्कार              खेल

आर गांधी।          एथलेटिक्स
रोशन लाल          रेसलिंग
हीरा नन्द कटारिया।   कबड्डी
ब्रिज भूषण।         मुक्केबाजी
जी एस एस वी प्रसाद बैडमिंटन
पी ए राफेल       हॉकी
संजोय चक्रवर्ती।   शूटिंग

वर्ष 2019 में द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता प्राप्त सूची


  पुरस्कार                      खेल

 रामवीर सिंह खोखर   कबड्डी (लाइफ टाइम)
मर्जबान पटेल         हॉकी (लाइफ टाइम)
संजय भारद्वाज।      क्रिकेट (लाइफ टाइम)
संदीप गुप्ता।          टेबल टेनिस
विमल कुमार।         बैडमिंटन
मोहिंदर सिंह ढिल्लन    एथलेटिक्स

ध्यानचंद पुरस्कार।  Dhyanchand Award


ध्यानचंद पुरस्कार Dhyanchand Award, भारत का सर्वोत्तम खेल पुरस्कार है जो किसी खिलाडी के जीवन भर के कार्य को गौरवान्वित करता है। आधिकारिक रूप से इसका नाम खेलों में जीवनगौरव ध्यानचंद पुरस्कार है। इस पुरस्कार का नाम भारत के प्रसिद्ध मैदानी हॉकी के खिलाडी ध्यानचंद सिंह (1905-1979) के नाम पर रखा गया है।
खेल एवं युवा मंत्रालय सन् 2002 ईं. से ये पुरस्कार प्रतिवर्ष प्रदान करता है।
प्राप्तकर्ताओं का चयन मंत्रालय द्वारा गठित एक समिति द्वारा किया जाता है और उनके सक्रिय खेल कार्यकाल के दौरान और सेवानिवृत्ति के बाद भी दोनों के लिए उनके योगदान के लिए सम्मानित किया जाता है।

  •  2016 के अनुसार  इस पुरस्कार में एक प्रतिमा, प्रमाण पत्र
  • ( certificate), औपचारिक पोशाक और 5 लाख का नकद पुरस्कार शामिल है।
  • ध्यानचंद पुरस्कार खेलों में जीवनगौरव पुरस्कार है।
  • ध्यानचंद पुरस्कार का प्रकार नागरिक को दिया जाता है
  • खेल के क्षेत्रों में ध्यानचंद पुरस्कार दिया जाता है
  • ध्यानचंद पुरस्कार की स्थापित वर्ष – 2002 ई. में हुई है।
  • ध्यानचंद पुरस्कार पहली बार (प्रथम अलंकरण) वर्ष 2002 में दिया गया था।
  • भारत सरकार द्वारा ध्यानचंद पुरस्कार दिया जाता है।
  • ध्यानचंद पुरस्कार विजेता की राशि ₹ 5,00,000 दिया जाता है।

 प्रथम ध्यानचंद पुरस्कार विजेता थे।

  पुरस्कार                      खेल

शाहुराज बिराजदार       (मुक्केबाजी)
 अशोक दिवान            (हॉकी)
अपर्णा घोष                (बास्केटबॉल)

वर्ष 2017 में विजेता ध्यानचंद पुरस्कार क्रमाक 17 वां पुरस्कार विजेता के नाम निम्नलिखित हैं।

  पुरस्कार                      खेल
सैयद शाहिद हाकिम       (फुटबॉल)
सुमराइ टेटे                   (हॉकी)
भूपेंदर सिंह                  (एथलेटिक्स)

वर्ष 2018 में विजेता ध्यानचंद पुरस्कार क्रमाक 18 वां पुरस्कार विजेता के नाम निम्नलिखित हैं।

  पुरस्कार                    खेल
सत्यदेव प्रसाद             (तीरंदाजी)
भरत कुमार छेत्री          (हॉकी)
बॉबी एलॉन्सिस           (एथलेटिक्स)
चौगुल धातु दत्तात्रेय      (कुश्ती)


वर्ष 2019 में विजेता ध्यानचंद पुरस्कार क्रमाक 19 वां पुरस्कार विजेता के नाम निम्नलिखित हैं।

   पुरस्कार                      खेल
मनोज कुमार।                  कुश्ती
मैनुअल फ्रैडरिक्स             हॉकी
अरूप बासक                  टेबल टेनिस
नितिन कीर्तने                  टेनिस
सी लालरैमसांगा              तीरंदाजी




राजीव गांधी खेल रत्न-द्रोणाचार्य-अर्जुन पुरस्कार अवार्ड 2019 राजीव गांधी खेल रत्न-द्रोणाचार्य-अर्जुन पुरस्कार अवार्ड 2019 Reviewed by shirswastudy on August 30, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.