4r principle  reduce reuse recycle recover

हमारे दैनिक जीवन में Plastic  की वस्तुओं का उपयोग दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। जो हमारे पर्यावरण के लिए हितकर नहीं हैं क्योंकि प्लास्टिक का अपघटन कई वर्षों में होता है। प्लास्टिक के इतने विशिष्ट गुण होते हुए भी इससे हमारे  environment को काफी नुकसान हो रहा हैं।
वे पदार्थ जो प्राकृतिक प्रक्रियाओं द्वारा सरलता से अपघटित नहीं होता हैं, जैव अनिम्नीकरणीय (Biodegradable) पदार्थ कहलाते हैं।
वर्तमान परिप्रेक्ष्य में प्लास्टिक environment प्रदूषण का एक प्रमुख कारण बन रहा हैं। Plastic जो कि पर्यावरण प्रदूषित करता हैं उनका पुनः चक्रण होना आवश्यक है। अतः एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में 4R सिद्धांत का अनुसरण कर पर्यावरण को प्रदूषित होने से रोक सकते हैं।

4R सिद्धांत निम्नलिखित हैं 



  1. उपयोग कम करिए ( Reduce )
  2. पुनः उपयोग करिए ( Reuse )
  3. पुनः चक्रित करिए ( Recycle )
  4. पुनः प्राप्त करिए ( Recover )

REDUCE आपके द्वारा पहली बार बनाए गए कचरे की मात्रा को सीमित करने के लिए है। इसमें कम पैकेजिंग वाले उत्पाद खरीदना शामिल है।

REUSE का मतलब फिर से कुछ ऐसा है कि आप सामान्य रूप से फेंक देंगे। (जैसे बिन लाइनर्स के लिए भोजन या प्लास्टिक बैग के लिए ग्लास जार।)।

RECYCLE का अर्थ है कि उत्पाद अपने स्वरूप को बदलने के लिए एक यांत्रिक प्रक्रिया से गुजरता है। यह केवल तब अनुशंसित किया जाता है जब कम करना और पुन: उपयोग करना संभव नहीं होता है।

RECOVER थर्मल और जैविक साधनों के माध्यम से कचरे को संसाधनों (जैसे बिजली, गर्मी, खाद और ईंधन) में परिवर्तित करना है। संसाधन पुनर्प्राप्ति घटने के बाद होती है, पुन: उपयोग और पुनरावृत्ति का प्रयास किया गया है

दैनिक क्रियाकलाप में इन नियमों को अपनाकर आप Plastic के उपयोग को कम करने में सहयोग कर सकते हैं।
जैव-निम्नीकरणीय (Biodegradable) तथा जैव-अनिम्नीकरणीय (Biodegradable) अपशिष्ट को अलग-अलग इकट्ठा कर उनका निस्तारण करना चाहिए।

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comments box.

Previous Post Next Post