गणित शिक्षण में सहायक सामग्री (Teaching Aids in Mathematics Teaching)

अध्यापक का मुख्य उद्देश्य पाठ्यक्रम को छात्रों तक पहुँचाने का होता हैं। अध्यापक शिक्षण सामग्री का उपयोग करते हुए पाठ्यक्रम को इस प्रकार प्रस्तुत करता हैं ताकि उस पाठ्यवस्तु को छात्र अपने मस्तिष्क में धारण कर सकें

शिक्षण सहायक सामग्री का अर्थ (Meaning of Teaching Support Aids)

सहायक सामग्री का अर्थ शिक्षण के उन उपकरणों से हैं जिनका कक्षा में प्रयोग करने से छात्रों को देखने तथा सुनने वाली इन्द्रियों से ज्ञान प्राप्त करने का अवसर प्राप्त होता हैं। दृश्य-श्रव्य सामग्री का मनोवैज्ञानिक आधार से बालक उस ज्ञान को स्थायी रूप से अपने मस्तिष्क में धारण कर सकते हैं।

गणित शिक्षण सहायक सामग्री का वर्गीकरण (Mathematics teaching Classification of Audio-Visual Aids)

Mathematics Teaching Aids


 दृश्य-श्रव्य साधनों के तीन भागों में बाँटा जा सकता हैं।


  1. दृश्य साधन (Visual Aids)
  2. श्रव्य साधन (Audio Aids)
  3. दृश्य-श्रव्य साधन (Audio-Visual Aids)

1.  दृश्य साधन (Visual Aids) :-

 ये उपकरण हैं जिनमें मुख्यतः दृश्येन्द्रियों का प्रयोग होता हैं। इनमें प्रमुख साधन निम्नलिखित हैं -
  1. चित्र (Picture)
  2. मूल चित्र (Silent picture)
  3. संग्रहालय (Museum)
  4. पाठ्यपुस्तक (Text book)
  5. श्यामपट्ट (Black board)
  6. वास्तविक पदार्थ (Actual things)
  7. जादू की लालटेन (Magic Lantern)
  8. मॉडल (Model)
  9. भ्रमण (Excursion)
  10. रेखाचित्र (Outliines)
  11. प्रतिरूप (Specimen)
  12. मानचित्र (Map)
  13. चार्ट (Charts)
  14. बुलेटिन बोर्ड (Bulletin board)
  15. लपेट फलक (Rolling Board)

2. श्रव्य साधन (Audio Aids) :-

 ये उपकरण हैं जिनमें मुख्यतः श्रव्येन्द्रियों का प्रयोग होता हैं। इनमें प्रमुख साधन निम्नलिखित हैं-
  1. फोनोग्राफ (Phonograph)
  2. लिंग्वाफोन (Lingua Phone)
  3. ग्रामोफोन (Gramo phone)
  4. रेडियो (Radio)
  5. टेपरिकॉर्डर (Tape Recorder)

3. दृश्य-श्रव्य साधन (Audio-Visual  Aids ) :- 

ये वे उपकरण हैं जिनमें दृश्येन्द्रियों और श्रव्येन्द्रियों दोनों का प्रयोग होता हैं। इनमें यह साधन आते हैं- 
  1. नाटक (Drammatization )
  2. चल चित्र (Motion Pictures)
  3. टेलीविजन (Television)
  4. वीडियो (Video)

गणित शिक्षण में प्रयुक्त प्रमुख सहायक सामग्री (Main Audio-Visual Aids in Mathematics Teaching)

  1. वास्तविक वस्तुएँ (Actual Things) -  कभी कभी वास्तविक पदार्थ शिक्षा का उपयोगी साधन बनते हैं। छात्र जिस वस्तु को प्रत्यक्ष देखते हैं, प्रयोग करते हैं तो उससे स्थायी ज्ञान मिलता हैं। जो मौखिक रूप में संभव नहीं हैं गणित में मात्रा, संहति, योग संख्या आदि के नमूनों मे यदि कोण, सिक्के, गोली, बांट तराजू आदि प्रमाण छात्र के सम्मुख हो तो तथ्य आसानी में समझ में आ दावेंगे 
  2. चित्र एवं चार्ट (Picture and chart)- उचित मॉडल न मिलने पर तथा समय और धन के अभाव में अध्यापक द्वारा अपना कार्य चित्रों एवं चार्टों की सहायता से गोल चक्र या आयताकार आकृतियों में काटकर आसानी से कराया जा सकता हैं। 
  3. मानचित्र (Map) गणित शिक्षण के अध्यापक को शिक्षण-प्रक्रिया में समय, स्थान और दूरी जैसी अमूर्त बातों को समझाना पड़ता हैं। इनके मूर्त - प्रतिनिधित्व के लिए नक्शे उपयोगी साधन सिद्ध होते हैं।
  4. ग्रामोफोन (Gramo phone) यह एक ऐसा उपकरण है जिसके द्वारा रिकार्ड के द्वारा शिक्षण कार्य को सम्पन्न किया जा सकता हैं। सुनना जहाँ कानों को कर्णप्रिय लगता है वही सुनी हुई बातें मन पर गहरा प्रभाव डालती हैं।
  5. श्यामपट्ट (Black board) - अध्यापन में गणित अध्यापक का सबसे अधिक विश्वासी व गहरा मित्र श्यामपट्ट होता हैं। शिक्षक व श्यामपट्ट का साथ चोली-दामन का साथ हैं।


Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comments box.

Previous Post Next Post