A P J abdul kalam Important facts & biography


A P J Abdul Allan के महत्वपूर्ण तथ्य के बारे में कुछ बिन्दू के बारे में जानेगे साथ ही अपने जीवन की उपलब्धि की चर्चा करेंगे

डॉ. ए. जे. अब्दुल कलाम (Dr.A.P.J. Abdul Kalam) जीवन परिचय 


जन्म-15 अक्टूबर, 1931

स्थान-धनुष कोडी,रामेश्वरम् ( तमिलनाडु)

पिता- जैनुलाअबदीन

 माता-आशियम्मा

A P J abdul kalam Important facts & biography


 आया हुरै सोलोमन उनके प्ररेण स्त्रोत बने। सोलोमन का गुरूमंत्र : जीवन में सफलता पाने के लिए तीन मुख्य बातों की जरूरत है- इच्छा शक्ति,आस्था व उम्मीद,कलाम के जीवन का आधार  बना।

 1954 में एयरोनोटिकल इंजीनियरिंग हेतु मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी में दाखिल हुए।

 1958 में कलाम रक्षा अनुसंधान व विज्ञान संगठन में हावर क्रॉफ्ट परियोजना पर काम करने हेतु वरिष्ठ वैज्ञानिक के रूप में नियुक्त हुए।

 1962 में प्रो. एम. जी. मेनन कलाम की लगन व मेहनत से प्रभावित होकर उन्हें भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन में ले गए जँहा कलाम के जीवन का स्वर्णिम अध्याय का सुनहरा आगाज हुआ।

कलाम ने नासा से राकेट प्रक्षेपण की तकनीकी का प्रशिक्षण प्राप्त किया तथा भारत का पहला रॉकेट "नाइेक अपाचे " छोडा।

इनके नेतृत्व में SLV-3 ने सफल उड़ान भरी जिसने " रोहिणी उपग्रह " अंतरिक्ष में सफलता पूर्वक प्रक्षेपित किया।

1983ई. में " पृथ्वी " अग्नि,त्रिशूल,नाग व आकाश नामक मिसाइलों का विकास व प्रक्षेपण किया।

मिसाइलों में महत्वपूर्ण योगदान के कारण इन्हें मिसाइल मेन भी कहा जाता है।

डॉ. कलाम ने 2002-2007 तक भारत के राष्ट्रपति के रूप में सर्वोच्च संवैधानिक पद को सुशोभित किया।

 भारत सरकार ने इन्हें पद्म भूषण (1981), पद्म विभूषण (1990) तथा भारत रत्न (1997) जैसे महत्वपूर्ण पुरस्कारों से सम्मानित किया।

 A P J abdul kalam की प्रमुख पुस्तक


अग्नि की उड़ान (1999)
इग्नाइटेड माइंडस (2002)
इंडिया 2020 (1998)
टर्निंग प्वॉइंट्स: चुनौतियों-भरा एक सफ़र(2012)
यू आर बॉर्न टू ब्लॉसम(2008)

 A P J abdul kalam के अन्तिम क्षण 


 27 जुलाई,2015 को IIM शिलांग में  भाषण देते हुए इनकी हृदय गति  रूक जाने से इनका निधन हो गया जो भारत के लिए ही नहीं अपितु सम्पूर्ण विश्व  समुदाय के लिए अपूर्णीय क्षति है।

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comments box.

Previous Post Next Post