छात्र के शब्द रूप 

शब्द रूप का तात्पर्य संज्ञा एवं सर्वनाम शब्दों के रूपों से हैं। शब्द रूप लिंग तथा वचन अन्तिम स्वर व्यंजन के अनुसार शब्दों के रूप चलते हैं।

छात्र शब्द रूप अकारान्त जिन शब्दों के अन्त में – अकारांत (अ) ध्वनि सुनाई देती है वे शब्द अकारान्त शब्द होते हैं।

छात्र (अकारांत) पुल्लिंग शब्द रूप

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा छात्र: छात्रौ छात्रा:
द्वितीय छात्रम् छात्रौ छात्रन्
तृतीय छात्रेन् छात्राभ्याम्  छात्रै:
चतुर्थी छात्राय छात्राभ्याम् छात्रेभ्य:
पंचमी छात्रात् छात्राभ्याम् छात्रेभ्य:
षष्ठी छात्रया: छात्रयो: छात्रानाम्
सप्तमी छात्रे छात्रयो: छात्रेषु
सम्बोधन  हे छात्र! हे छात्रौ! से छात्रा!
ज्ञातव्य - इसी प्रकार 
जनक के शब्द रूप 
विद्यालय, सूर्य, शिक्षक, खग, पर्वत आदि के रूप राम विभक्ति की तरह चलेंगे।

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comments box.

Previous Post Next Post